How do Women Join Indian Army

जानें महिलाएं कैसे कर सकती हैं Army में Job


भारतीय सेना में महिलाएँ; CDS के द्वारा एक सैन्य अधिकारी के रूप में सेना से जुड़ सकती हैं। इसके साथ मेडिकल से ले कर टेक्निकल तक भारतीय सेना के सभी क्षेत्रों में महिलाओं के लिए पर्याप्त अवसर हैं।

How do Women Join Indian Army
मेजर पूनम सांगवान | फोटो – पंकज आनंद (Condé Nast traveller) | एडिटिंग

भारतीय सेना में सन् 1992 का इतिहास स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया है। क्योंकि इसी वर्ष भारतीय सेना के अधिकारियों की श्रेणी में महिलाओं को भी स्थान दिया गया था। सभी महिलाओं को प्रक्षिशण देने का महत्वपूर्ण कार्य ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) द्वारा किया गया था। अभी तक 1200 से अधिक महिला अधिकारी भारतीय सेना के विभिन्न सशत्रो और सेवाओं में कमीशन कर चुकी हैं।

भारतीय सेना में महिलाओं का इतिहास सिर्फ़ ढाई दशक पुराना ही नहीं है अपितु महिलाएँ ब्रिटिश इंडियन आर्मी के समय से ही मिलिट्री में अपनी नर्सिंग सेवाएँ देती आ रही हैं। और अब बात सिर्फ़ मिलिट्री में नर्सिंग सेवाएँ और आधिकारिक पदों तक ही सीमित नहीं है बल्कि वर्ष 2019 में पूर्व रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन व प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह घोषणा हुई कि अब इंडियन आर्मी (Indian Army) में महिलाओं के लिए खुली भर्तीयों का आयोजन किया जाएगा, और इस घोषणा को अमल में भी वर्ष 2019 में लाया गया। जब 100 पदों के लिए महिलाओं की खुली भर्ती का आयोजन किया गया, जहाँ महिलाओं का 10वीं पास होना ही उपयुक्त था। इस भर्ती को वीमेन मिलिट्री पुलिस (Women Military Police) नाम दिया गया।

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से इस बात पर प्रकाश डालेंगे कि महिलाएँ किस प्रकार भारतीय सेना में अपनी सेवाएँ दे सकती हैं, इसके लिए उनकी क्या क्या शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए, वे किस प्रकार आर्मी में नौकरी के लिए आवेदन कर सकतीं है, और उनका वेतन कितना होगा इत्यादि।

महिलाओं के लिए भारतीय सेना में प्रवेश हेतु मुख्यतः पाँच द्वार हैं:

महिलाओं के लिए इंडियन आर्मी में जाने के तरीके
1. ग्रेजुएट यू.पी.एस.सी (Graduate UPSC)2. ग्रेजुएट नॉन यू.पी.एस.सी (Graduate Non-UPSC)3. ग्रेजुएट टेक एंट्री (Graduate Tech Entries)4. मिलिट्री नर्सिंग सर्विस (Military Nursing Service)5. सोल्जर जनरल ड्यूटी – महिला मिलिट्री पुलिस (Women Military Police)

  1.  ग्रेजुएट  यू.पी.एस.सी (Graduate UPSC)

  •  संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) के द्वारा प्रतिवर्ष 2 बार सी.डी.एस. (Combined Defence Services) परीक्षा के माध्यम से SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वीमेन) नॉन टेक्निकल शाखा के लिए भारतीय सेना में महिला अधिकारियों का चयन किया जाता है। 
  • महिला अधिकारियों की भर्ती की उपलब्धता के आधार पर साल में दो बार 12-12 महिला अधिकारियों का चयन किया जाता है। जिसका नोटिफ़िकेशन आप यू.पी.एस.सी की आधिकारिक वेबसाइट पर जुलाई व नवम्बर के माह में देख सकते हैं।
  • अविवाहित महिला उम्मीदवार ही इस शाखा के अंतर्गत आवेदन कर सकती हैं, जिनकी आयु 19 से 25 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  • महिला अधिकारियों के चयन के लिए SSB इंटरव्यू जून, जुलाई और नवम्बर, दिसंबर में लिए जाते हैं।
  • चयनित महिला अधिकारियों की ट्रेनिंग; ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) चेन्नई में 49 सप्ताह तक होती है।

  2. ग्रेजुएट नॉन-यू.पी.एस.सी (Graduate Non-UPSC)

महिला अधिकारियों के चयन के लिए यू.पी.एस.सी के अतिरिक्त नॉन-यू.पी.एस.सी परीक्षाओं (non-UPSC) का भी आयोजन किया जाता है। नॉन यू.पी.एस.सी के अंतर्गत महिला अधिकारियों की चयन प्रक्रिया के लिए दो शाखाएँ जोड़ी गई हैं।

1. SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) NCC स्पेशल एंट्री
वेकन्सीज़चार (वर्ष में दो बार)
रोजगार समाचार और प्रमुख दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित अधिसूचनाजून और दिसंबर में महानिदेशालय भर्ती / एजी शाखा द्वारा अधिसूचित
पात्रता मापदंड
आयु19 से 25 वर्ष
शैक्षणिक योग्यता50% एग्रीगेट अंकों के साथ ग्रेजुएट, एनसीसी सीनियर डिवीजन आर्मी में तीन साल की सेवा, ‘सी’ सर्टिफिकेट परीक्षा में न्यूनतम ‘बी’ ग्रेड के साथ।
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
आवेदन कैसे करेंएनसीसी डीटीई के माध्यम से अधिसूचना में ऑनलाइन आवेदन करें।
संभवतः SSB इंटरव्यू की तारीखदिसंबर / जनवरी और जून / जुलाई
प्रशिक्षण प्रारंभ होने की तारीखअप्रैल और अक्टूबर
प्रशिक्षण अकादमीऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) चेन्नई
प्रशिक्षण की समयावधि 49 सप्ताह
  • राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC स्पेशल एंट्री) के द्वारा महिला NCC कैडेट भी बिना किसी लिखित परीक्षा के भारतीय सेना में शामिल हो सकती हैं।
  • भारतीय सेना साल में 2 बार 4-4 अविवाहित महिला कैडेट की भर्ती करती है।
  • महिला कैडेट का सेना के NCC वरिष्ठ प्रभाग में 3 वर्ष की सेवा को पूर्ण किया होना चाहिए।
  • महिला कैडेट को NCC की C सर्टिफ़िकेट परीक्षा में कम से कम B ग्रेड धारक होना चाहिए।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 50% अंकों के साथ ग्रेजुएशन डिग्री होनी चाहिए।
  • NCC स्पेशल एंट्री के माध्यम से उपलब्धता जून व दिसम्बर में महानिर्देशालय भर्ती / एजी (AG) शाखा द्वारा अधिसूचित होती है।
  • महिला कैडेट की आयु 19 से 25 वर्ष होनी चाहिए।
  • महिला अधिकारियों के चयन के लिए SSB इंटरव्यू दिसंबर,जनवरी और जून व जुलाई में लिए जाते हैं।
  • चयनित महिला अधिकारियों की ट्रेनिंग; ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) चेन्नई में 49 सप्ताह तक होती है।
  • महिला कैडेट सेना में भर्ती के लिए NCC के नोटिफ़िकेशन के बाद ऑनलाइन अप्लाई कर सकती हैं।
2. SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) जेएजी - जज एडवोकेट जनरल (JAG)
वेकन्सीज़चार (अधिसूचिना के आधार पर ) (वर्ष में दो बार)
रोजगार समाचार और प्रमुख दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित अधिसूचनाजुलाई / अगस्त और जनवरी / फरवरी में महानिदेशालय भर्ती / एजी शाखा द्वारा अधिसूचित।
पात्रता मापदंड
आयु21 से 27 वर्ष
शैक्षणिक योग्यता55% अंकों के साथ LLB के साथ ग्रेजुएट । बार काउंसिल ऑफ इंडिया / स्टेट के साथ पंजीकृत होना आवश्यक है।
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
आवेदन कैसे करेंअधिसूचना में अधिसूचित DGRTG की आधिकारिक वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in पर ऑनलाइन आवेदन करें।
संभावित SSB इंटरव्यू तिथिदिसंबर / जनवरी और जून / जुलाई
प्रशिक्षण प्रारंभ होनी की तारीख़अप्रैल और अक्टूबर
ट्रेनिंग अकैडमीऑफिसर्स ट्रेनिंग अकेडमी (OTA) चेन्नई
प्रशिक्षण समयावधि49 सप्ताह
  • जेएजी – जज एडवोकेट जनरल (JAG) शाखा के अंतर्गत भारतीय सेना में कानूनी औपचारिकता से निपटने के लिए महिला अधिकारियों को इस विभाग में भर्ती किया जाता है।
  • भारतीय सेना साल में 2 बार 4-4 अविवाहित महिला अधिकारियों  की भर्ती करती है।
  • महिला अधिकारी की आयु 21 वर्ष से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • महिला आवेदक के पास न्यूनतम 55% अंकों साथ LLB की ग्रेजुएशन  डिग्री होनी चाहिए।
  • महिला आवेदक का भारत या राज्य के बार काउंसिल से रजिस्टर्ड होना आवश्यक है।
  • महिला अधिकारी की भर्ती अप्रैल या अक्टूबर के महीने में अतिरिक्त महानिर्देशालय (Additional Directorate General) के द्वारा की जाती है
  • भर्ती के नोटिफ़िकेशन जुलाई, अगस्त और जनवरी व फ़रवरी में आ जाते हैं।
  • महिला अधिकारियों के चयन के लिए SSB इंटरव्यू दिसंबर,जनवरी और जून व जुलाई में लिए जाते हैं।
  •  चयनित महिला अधिकारियों की ट्रेनिंग; ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) चेन्नई में 49 सप्ताह तक होती है।

   3. ग्रेजुएट टेक एंट्री (Graduate Tech Entries)

  • इस प्रवेश परीक्षा के द्वारा SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वीमेन) टेक्निकल शाखा के लिए भारतीय सेना में इंजीनियर महिला अधिकारियों का चयन किया जाता है।
  • भारतीय सेना के विज्ञापन की अधिसूचना के अनुसार ही महिला इंजीनियर विद्यार्थियों; जो कि 20 से 27 वर्ष के समूह के मध्य आती हैं उन्हें इस परीक्षा के द्वारा भर्ती किया जाता है।
  • आवेदक के पास इंजीनियरिंग के किसी भी क्षेत्र से ग्रेजुएशन डिग्री होना आवश्यक है।
  • भारतीय सेना में महानिर्देशालय भर्ती / एजी शाखा द्वारा प्रेत्यक वर्ष दो बार अप्रैल और अक्टूबर के महीने में 20-20 पात्र उम्मीदवारों को नियुक्त किया जाता है।
  • आवेदक का अविवाहित होना आवश्यक है अथवा इसके लिए शहीद की विधवा भी आवेदन कर सकती हैं।
  • महिला अधिकारियों के चयन के लिए SSB इंटरव्यू दिसंबर,जनवरी और जून व जुलाई में लिए जाते हैं।
इंडियन आर्मी में SSB की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है:
SSB प्रक्रिया
दिनप्रक्रिया
1जाँच परीक्षा (Screening Test)
2मनोवैज्ञानिक परीक्षा (Psychological Test)
3समूह परिक्षण अधिकारी परीक्षा (Group Testing Officers Test)
4इंटरव्यू (Interview)
5परिणाम (Result)
  •  चयनित महिला अधिकारियों की ट्रेनिंग; ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी (OTA) चेन्नई में 49 सप्ताह तक होती हैं।

  4. मिलिट्री नर्सिंग सर्विस (Military Nursing Service)

  • महिलाओं के लिए भारतीय सेना में मिलिट्री नर्सिंग सर्विस एक महत्वपूर्ण विकल्प है, जिसके माध्यम से इच्छुक महिला उम्मीदवार भारतीय सेना में शामिल हो सकती हैं।
  • आवेदक की आयु 21 से 35 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • एकल/ विवाहित / तलाक़शुदा या कानूनी रूप से अलग और विधवा सभी आवेदन करने के लिए पात्र उम्मीदवार हैं।
  • आवेदक का M.Sc(नर्सिंग)/ PBBsc(नर्सिंग)/ Bsc(नर्सिंग) होना चाहिए।
  • आवेदक स्टेट नर्सिंग काउंसिल से रजिस्टर्ड नर्स एवं मिडवाईफ होनी चाहिए।
  • शॉर्ट सर्विस कमीशन पूर्ण होने के बाद MNS (मिलिट्री नर्सिंग सर्विस) महिला अधिकारी परमानेंट कमीशन प्राप्त कर सकती है जो कि वेकन्सी की उपलब्धता व मेरिट लिस्ट के आधार पर होता है।

  5. सोल्जर जनरल ड्यूटी (महिला मिलिट्री पुलिस) – Women Military Police

  • वर्ष 2019 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व पूर्व रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन के नेतृत्व में यह घोषणा की गई कि अब से भारतीय सेना में महिलाओं की भी खुली भर्तियाँ की जाएगी। तत्पश्चात ही 2019 में पहली बार भारतीय सेना ने महिलाओं के लिए 100 सोल्जर जनरल ड्यूटी पदों पर भर्तियाँ निकली।
  •  भारतीय सेना द्वारा इस इस भर्ती के लिए महिलाओं की आयु साड्डे 17 वर्ष से 21 वर्ष रखी है।
  • आवेदक का अविवाहित होना आवश्यक है।
  • आवेदक का किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 10वीं 45% के साथ पास होना आवश्यक है।
  • आवेदक की लम्बाई कम से कम 142cm (4′.69″) होनी चाहिए।
  • आवेदक के वजन का पैमाना भारतीय सेना के द्वारा फ़ील्ड पर ही तय किया जाता है।
  • आवेदक  को 1600 मीटर की दौड़ करवाई जाती है जहाँ उसे 8 मिनट का समय दिया जाता है। इसके अतिरिक्त आवेदक को लम्बी कूद व ऊँची कूद भी करवाई जाती है।
  • जिन आवेदकों के पिता सेना को अपनी सेवाएँ दे चुके है या दे रहें है या जिन आवेदकों के पिता शहीद हो चुके है उन्हें लम्बाई व वजन में 2-2 अंक की छूट मिलती है।
  • मेडिकल परीक्षा के बाद कॉमन एंट्रेंस एक्सामिनेशन (CEE – Common Entrance Examination) के द्वारा लिखित परीक्षा का आयोजन होता है।
  • CEE में नेगेटिव मार्किंग लागू होती है।
  •  जिन आवेदकों के पास NCC का C  सर्टिफ़िकेट होता है उनकी  लिखित परीक्षा नही होती है, अथवा जिन आवेदकों के पास NCC का A और B सर्टिफ़िकेट होता है उन्हें क्रमश: 5 व 10 अंकों की अतिरिक्त छूट मिलती है।
  • जिन आवेदकों के पिता सेना को अपनी सेवाएँ दे चुके हैं या दे रहें हैं या जिन आवेदकों के पिता शहीद हो चुके हैं उन्हें लिखित परीक्षा में 20 अंकों की अतिरिक्त छूट मिलती है।
  • जिन आवेदकों के पति शहीद हो चुके है उन्हें भी 20 अंकों की अतिरिक्त छूट मिलती है।
  • एकल / विवाहित / तलाक़शुदा या कानूनी रूप से अलग और विधवा सभी आवेदन करने के लिए पात्र उम्मीदवार हैं, बशर्ते उन्हें बच्चे नहीं होने चाहिए।
  • विधवाओं के लिए भर्ती में कुछ अलग से मानदंड बनाए गये है जिसके अनुसार यदि उन्होंने दोबारा शादी नहीं की हो तो ही आवेदन कर सकतीं है।

 भारतीय सेना से जुड़ने हेतु विधवाओं के लिए प्रावधान:

  • शहीद की पत्नी एक आवेदक के रूप में SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) नॉन टेक्निकल शाखा (Non UPSC) और  SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) टेक्निकल शाखा के लिए 35 वर्ष की आयु तक आवेदन कर सकती है।
  • SSCW(शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) नॉन टेक्निकल शाखा (Non UPSC) के लिए आवेदन करने हेतु आवेदक के पास  किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  •  SSCW (शॉर्ट सर्विस कमीशन वुमन) टेक्निकल शाखा के लिए आवेदक के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग के किसी भी क्षेत्र से ग्रेजुएशन डिग्री होनी चाहिए।
  • आवेदन वेकन्सी की उपलब्धता के आधार पर लिए जाते हैं।

भारतीय सेना से जुड़ने हेतु महिलाओं के लिए कुछ अन्य महत्वपूर्ण सवालों के जवाब:

क्या SSC(शॉर्ट सर्विस कमीशन ) के बाद महिला अधिकारी PC(परमानेंट कमीशन) से जुड़ सकती हैं?
रक्षा मंत्रालय ने यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाए है कि जिन महिलाओं को पहले SSC(शॉर्ट सर्विस कमीशन) के आधार पर सेना में भर्ती किया गया है, उन्हें अब सशस्त्र बलों में शामिल किया जाएगा। भारतीय वायुसेना के मुखिया बी.एस धनोआ ने एक इंटरव्यू में कहा कि SSC (शॉर्ट सर्विस कमीशन) से चयनित महिला अधिकारियों को PC(परमानेंट कमीशन) के अंतर्गत वेकन्सी की उपलब्धता एवं मेरिट के आधार पर लिया जाएगा।
SSC(शॉर्ट सर्विस कमीशन ) के बाद महिला अधिकारियों को PC (परमानेंट कमीशन) की कौनसी शाखाओं में जगह दी जाएगी?
रक्षा मंत्रालय ने यह सुनिश्चित किया है की सिग्नल, इंजीनियर, आर्मी एविएशन, आर्मी एयर डिफेंस, इलेक्ट्रॉनिक और मैकेनिकल इंजीनियर, आर्मी सर्विस कॉर्प्स, आर्मी ऑर्डिनेंस कॉर्प्स और इंटेलिजेंस जैसी शाखाओं में शामिल महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन दिया जाएगा।
ट्रेनिंग के समय क्या शाकाहारी महिला उम्मीदवारों के लिए अलग से खाना बनाया जाता हैं?
हाँ! भारतीय सेना सभी चयनित उम्मीदवारों के हितों का विशेष ध्यान रखती है।

संदर्भ और उद्धरण (References & Citations)


Leave a Comment