Merchant Navy

मर्चेंट नेवी में नौकरी कैसे करें? – Merchant Navy Job

मर्चेंट नेवी विश्व में आयात-निर्यात करने का एक बहुउपयोगी तंत्र है, समुद्र के रास्ते कच्चा तेल, खाद्य-सामग्री, इलेक्ट्रॉनिक सामग्री, यातायात संसाधन इत्यादि लाने-ले जाने के लिए सभी देश इस तंत्र पर निर्भर है। मर्चेंट नेवी यात्रियों और माल दोनों के लिए अनिवार्य रूप से काम करती है, यह यात्री नौकाओं, कार्गो लाइनरो, टैंकरों, थोक वाहक, कंटेनर से बने अलग-अलग प्रकार के बेड़े होते है। जिसके द्वारा एक देश दूसरे देश से व्यवसायिक दृष्टि से जुड़ा रहता है।

यहाँ आपका स्पष्ट रूप से यह जानना बेहद ज़रूरी है कि भारतीय नौसेना और मर्चेंट नेवी दोनों अलग-अलग क्षेत्र है, जहाँ भारतीय नौसेना भारतीय सेना का भाग है तो वहीं मर्चेंट नेवी ग़ैर सरकारी कमर्शियल शिप (मालवाहक जहाज़ों की नौकरी) होती है।अंतरराष्ट्रीय व्यापार का पूरा दारोमदार मर्चेंट नेवी पर ही टिका हुआ है, तभी आज भारत जैसे बड़े देश में भी शिपिंग कंपनियों का एक बहुत बड़ा नेटवर्क बन चुका है। यही कारण है कि आज बड़े-बड़े जहाज़ों में प्रशिक्षण प्राप्त सदस्यों की माँग बढ़ रही है। मर्चेंट नेवी में नेविगेशन ऑफ़िसर, रेडियो ऑफ़िसर, इलेक्ट्रिकल ऑफ़िसर, मरीन इंजीनियर, सर्विस स्टाफ़ इत्यादि बनने के लिए आज भारत देश में बड़ी-बड़ी संस्थाएं खुल चुकी है, जहाँ अभ्यर्थी अच्छा प्रशिक्षण प्राप्त कर मर्चेंट नेवी जोइन कर सकता है।

मर्चेंट नेवी एक ग़ैर सरकारी नौकरी होती है, परंतु प्राइवेट जहाज़ कम्पनियों के अलावा कुछ सरकारी जहाज़ कम्पनियाँ भी इस क्षेत्र से जुड़ी हुई है जो कि अच्छे प्रशिक्षित अभ्यर्थियों का प्रत्येक वर्ष चयन करती हैं। निजी देशी जहाज़ कम्पनियों के अलावा फ़्रांस, जापान, ब्रिटेन जैसे देशों की कम्पनियाँ भी इस क्षेत्र से जुड़े युवाओं को रोज़गार के अच्छे अवसर प्रदान कर रही है। मर्चेंट नेवी एक वह पेशा है जहाँ वेतन की मात्रा दूसरे अधिकतर पेशों की तुलना में अधिक होती है, इस पेशे की प्रमुख व उपयोगी बात यह है कि यदि आप 184 दिन या उससे अधिक देश से बहार रहते है तो यहां मिलने वाले वेतन पर सरकार द्वारा कोई टैक्स नही काटा जाता है। (इससे जुड़े अन्य नियम यहाँ से पढ़े।) और तो और सभी शिपिंग कम्पनियाँ अपने कर्मचारियों के रहने-खाने व विभिन्न-विभिन्न देशों में घूमने का खर्चा भी स्वयं वहन करती हैं।

मर्चेंट नेवी एक इकलौता क्षेत्र है जिसे एडवेंचर के नाम से भी जाना जाता है, मर्चेंट नेवी में कार्यरत कर्मचारी अधिकांश समय समुद्र पर ही व्यतीत करते हैं। यदि आप भी इस पेशे को पसंद करते है या इससे जुड़ना चाहते है तो भारत में मर्चेंट नेवी के पाठ्यक्रम का संचालन कई विश्वविद्यालयों में करवाया जाता है, जिसमें अध्ययन कर आप भी इस क्षेत्र में अपना योगदान दे सकते है।आज हम मर्चेंट नेवी से जुड़ी विस्तृत जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से आप तक प्रस्तुत करेंगे।

Table of Contents

मर्चेंट नेवी में जाने के लिए पात्रता – Eligibility

  • मर्चेंट नेवी में शामिल होने के लिए भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ कक्षा 12वीं अनिवार्य है।
  • कुछ कोर्सेज 10वीं पास की योग्यता के आधार पर भी किए जा सकते है।
  • अभ्यर्थियों का अविवाहित(पुरुष या महिला) होना अनिवार्य है।
  • मर्चेंट नेवी में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम 25 वर्ष होती है
  • सरकारी नियमों के अनुसार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों के लिए अधिकतम आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट है।
  • अभ्यर्थी के पास रजिस्टर्ड चिकित्सक के द्वारा घोषित किया गया स्वास्थ्य प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  • विकलांगता वाले उम्मीदवार मर्चेंट नेवी में प्रवेश के लिए पात्र नहीं है।
  • 6/12 प्रत्येक आँख में या 6/9 बेहतर आँख में और 6/18 में अन्य आंखों में दुर्लभ दृष्टि के लिए।
  • किसी भी मामले में रंगीन अंधापन (colour blindness) वाले उम्मीदवार प्रवेश के लिए पात्र नहीं है।

क्या लड़कियां भी मर्चेंट नेवी में काम कर सकती हैं?

लड़कियां भी पुरुष उम्मीदवारों की भाँति ही 10वीं, 12वीं तथा B.Tech/B.Sc करने के बाद मर्चेंट नेवी कोर्स के द्वारा मर्चेंट नेवी में नौकरी पा सकती हैं। इसके लिए नियमों में कोई बाध्यता नहीं है। यहाँ तक की महिलाओं को भारत के बहुत से इंस्टीट्यूट 50% तक फ़ीस में छूट भी प्रदान करते है।

आप कप्तान राधिका मेनोन जैसी महिलाओं से प्रेरणा ले सकते है, जो की भारत की पहली मर्चेंट नेवी महिला कप्तान है।


कब कर सकते हैं मर्चेंट नेवी में नौकरी

1. 10वीं के बाद

  • 10वीं पास करने के पश्चात अभ्यर्थी कुछ डिप्लोमा कोर्स करने के बाद मर्चेंट नेवी में नौकरी कर सकता है।
    • प्री-सी ट्रेनिंग फॉर पर्सनेल(4 महीने)
    • डेक-रेटिंग(3 महीने)
    • इंजन-रेटिंग(3 महीने)
    • सैलून-रेटिंग(4 महीने)
  • अभ्यर्थी को यह ज्ञात होना चाहिए कि मर्चेंट नेवी में 10वीं पास करने के पश्चात ऑफ़िसर रैंक प्राप्त नहीं होती है।
  • अभ्यर्थी को यह भी ज्ञात होना चाहिए कि 10वीं पास करने के पश्चात मर्चेंट नेवी में इलेक्ट्रिशियन, स्वीपर इत्यादि का पद भार प्राप्त होता है।

2. 12वीं के बाद

  • 12वीं पास करने बाद अभ्यर्थी ऑफ़िसर और नॉन ऑफ़िसर दोनों में से एक वर्ग को चुन सकता है।
  • मर्चेंट नेवी में ऑफ़िसर बनने के लिए अभ्यर्थी का 12वीं विज्ञान(भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) श्रेणी से 60% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • अंग्रेज़ी विषय में 50% से ज़्यादा अंक होने आवश्यक है।
  • 12वीं के बाद मर्चेंट नेवी की उपरोक्त दी गई कोई भी प्रवेश परीक्षा पास करने के पश्चात निम्नलिखित कोर्स में से किसी एक को चुने।
    • B.Sc. Nautical Science
    • B.E. Marine Engineering
    • B.E. Naval Architecture and Offshore Engineering
    • B.E. Petroleum Engineering
    • B.E. Mechanical Engineering
    • B.E. Harbour & Ocean Engineering
    • B.E. Civil Engineering
    • B.E. Electrical & Electronics Engineering
    • B.Sc. Marine Catering

3. ग्रेजुएशन के बाद

  • अभ्यर्थी ने यदि B.Tech/B.Sc के माध्यम से ग्रेजुएशन कर लिया है तो भी वह मर्चेंट नेवी के पेशे से जुड़ सकता है बशर्ते उसकी आयु 25 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन के बाद अभ्यर्थी को PGDME(GME) कोर्स करना अनिवार्य है, इस कोर्स की अवधि 1 साल की होती है।
  • PGDME(GME) कोर्स की फ़ीस लगभग 1.5 लाख से 3 लाख तक होती है।

मर्चेंट नेवी में जाने के लिए मुख्य परीक्षाएँ – Entrance Exams

परीक्षा कोर्सपरीक्षा पैटर्न
1) IMUCETB.Tech Marine Engineering
B.Tech in Naval Architecture and Ocean Engineering
B.Sc Nautical Science
B.Sc Ship Building and Repair
Diploma in Nautical Science
M.Tech in Marine Technology and Management
MBA
Online
2) AIMETB.Sc Nautical Science
B.Tech Naval Architecture
G.P. Ratings
Diploma of Applied Science (deck watch keeper) by AMSA
B.Tech Marine
MBA (Shipping and logistics Management)
Online
3) TMISATB.Tech Marine Engineering
B.Sc Nautical Science
Online
4)MERI Entrance ExamB.Sc. (Nautical Sciences) Degree
Marine Engineering Degree
Polyvalent B.Sc. (Maritime Sciences) Degree
Online
5) JEE(IIT)All Subjects IncludeOffline/Online

मर्चेंट नेवी के मुख्यतः पाँच डिपार्टमेंट

  1. इंजन डिपार्टमेंट (Engine Department): इंजन विभाग एक व्यापारी जहाज पर इंजन, इलेक्ट्रिक मोटर्स, पंप, वाइन, तार व अन्य मशीनी उपकरणों के रखरखाव और मरम्मत के लिए जिम्मेदार होता है। इस विभाग के अंतर्गत मुख्यतः पद – चीफ़ इंजीनियर, 2, 3 और 4 इंजीनियर, नवसिखुआ इंजीनियर, मुख्य मैकेनिक, मैकेनिक, ओइलर और इंजन यूटिलिटी मैन शामिल होते हैं।
  2. डेक डिपार्टमेंट (Deck Department): डेक विभाग में जहाज़ पर कई प्रकार के कार्य होते है, जैसे जहाज़ के लिए नेविगेशन, मालवाहक जहाज़ों की निगरानी, जहाज़ की स्थिरता की निगरानी तथा जहाज़ पर रखे माल का रखरखाव, जहाज़ के ऊपरी भाग की सम्पूर्ण ज़िम्मेदारी इत्यादि कार्य इस विभाग के अंतर्गत आते है। डेक विभाग के अंतर्गत मुख्यतः पद – कप्तान, चीफ़ ऑफ़िसर, 2,3 ऑफ़िसर, नाविक, बोसुन, एबल सीमैन, डेक रेटिंग जैसे पद शामिल है।
  3. पेटी ऑफिसर डिपार्टमेंट (Petty Officer Department): इस विभाग के अंतर्गत जहाज़ पर बिजली व लोहे से जुड़े कार्य आते है जिनकी निगरानी व मरम्मत की जवाबदेही मुख्यतः इलेक्ट्रो ऑफ़िसर व इलेक्ट्रिकल ऑफ़िसर की होती है, इस विभाग में फिटर वेल्डर, वाइपर, पम्पमैन जैसे पद भी शामिल है।
  4. सर्विस डिपार्टमेंट या सैलून डिपार्टमेंट/खानपान प्रबंधन (Service Department or Salon Department/Catering management): इस विभाग की ज़िम्मेदारी जहाज़ के बोर्ड पर चालक दल को खाद्य पदार्थ तैयार करने और परोसने की होती है। इस विभाग में बहुत नौकरियां उपलब्ध है जिनमे मुख्यतः चीफ़ स्टीवर्ड, चीफ़ कुक, 2nd कुक, बेकरी / पेस्ट्री मैन, क्लीनर और डिशवॉशर शामिल है।
  5. सुरक्षा / चिकित्सा विभाग (Safety/Security/Medical Department): इस विभाग के अंतर्गत जहाज़ पर सभी प्रकार की सुरक्षा व चिकित्सा सम्बन्धी ज़रूरतों की ज़िम्मेदारी शामिल होती है। इस विभाग में चीफ़ मेट, 2nd व 3rd अधिकारी, सुरक्षा अधिकारी, डॉक्टर, नर्स, फायरमैन व सी-मैन इत्यादि आते है।

मुख्य डिपार्टमेंट के अनुसार कोर्स, कोर्स अवधि व कोर्स की फीस

डिपार्टमेंट कोर्सकोर्स अवधिकोर्स की फीस
इंजन विभागB.Tech In Marine Engineering4 Yearsलगभग 14 लाख रुपये तक
डेक विभाग1) Diploma In Nautical Science(नॉटिकल साइंस)
2) B.Sc In Nautical Science(नॉटिकल साइंस)
1 Years
3 Years
लगभग 4 लाख रुपये तक
लगभग 12 लाख रुपये तक

मर्चेंट नेवी के लिए स्कालर्शिप/स्पोंसरशिप परीक्षा

मर्चेंट नेवी में कोर्स पूरा करने के पश्चात नौकरी मिलना बहुत मुश्किल हो जाता है। इसलिए आप कोर्स शुरू करने से पूर्व ही किसी भी कम्पनी का स्पोंसरशिप लेना न भूलें। इसके अंतर्गत कोई भी जहाज़ कम्पनी आपकी परीक्षा लेगी यदि आप परीक्षा पास कर लेते हैं तो कोर्स शुरू होने से पूर्व ही आपकी नौकरी उस कम्पनी में पक्की हो जाती है। तत्पश्चात् जैसे ही आप मर्चेंट नेवी का कोर्स पूरा कर लेते है यह कंपनियाँ आपको जॉब लेटर प्रदान कर देती हैं। मर्चेंट नेवी में कोई भी प्रवेश परीक्षा देने से पूर्व कम्पनियों के स्पोंसरशिप एग्ज़ाम, Psychometric Test, व इंटरव्यू की तैयारी ज़रूर करें।


भारत में मर्चेंट नेवी की पढ़ाई करने लिए प्रमुख संस्थान

  • समुद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेरीटाइम, मुंबई 
  • मेरीटाइम फाउंडेशन, चेन्नई 
  • ट्रेनिंग शिप चाणक्य, मुंबई 
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मरीनटाइम स्टडी, गोवा
  • हिन्द इंस्टीट्यूट ऑफ नॉटिकल साइंस एंड इंजीनियरिंग, उत्तर प्रदेश
  • इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मरीन इंजीनियरिंग, कोलकाता 
  • तोलानी मेरीटाइम इंस्टीट्यूट, दिल्ली 
  • महाराष्ट्र एकेडमी ऑफ नेवल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग, पुणे 
  • इंडियन मेरीटाइम यूनिवर्सिटी, चेन्नई 
  • कोयम्बटूर मरीन सेंटर, कोयम्बटूर
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई 

मर्चेंट नेवी में पद व वेतन – Rank and Salary

पदवेतन
Junior engineer or deck cadet   ₹14252-₹21378 प्रतिमाह
4th Engineer / 3rd officer₹142520-₹213780 प्रतिमाह
3rd Engineer/ 2nd officer₹213780-₹285040 प्रतिमाह
2nd Engineer/Chief officer₹285040-₹356300 प्रतिमाह
Chief engineer/ Captain₹356300-₹712600 प्रतिमाह
Electrical Officer₹142520-₹285040 प्रतिमाह
Pumpman₹42756-₹57008 प्रतिमाह
Bosun₹57008-₹71260 प्रतिमाह
Ordinary Seaman₹14252-₹21378 प्रतिमाह
Able Seaman₹42756-₹57008 प्रतिमाह
Fitter₹21378-₹28504 प्रतिमाह
Oiler₹14252-₹21378 प्रतिमाह
Engine Rating/ Deck Rating/Wiper₹14252-₹21378 प्रतिमाह
Chief Cook₹71260-₹142520 प्रतिमाह
Steward₹21378-₹28504 प्रतिमाह

महत्वपूर्ण पद व उनके कार्य

  1. चीफ़ इंजीनियर – एक जहाज पर मुख्य इंजीनियर; इंजन विभाग के संपूर्ण कार्यों की देखरेख करता है, तथा पूरे जहाज़ में सभी इंजीनियरिंग उपकरणों के संचालन और रखरखाव के काम के लिए जिम्मेदार होता है एवं जहाज़ के कप्तान को रिपोर्ट करने का कार्य भी मुख्य इंजीनियर के द्वारा ही किया जाता है। इस पद के लिए बोर्ड के जहाजों पर अधीनस्थ पदों पर न्यूनतम 5 से 8 वर्ष का व्यापक अनुभव होना अतिआवश्यक होता है।तथा अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना बेहद जरूरी है।
  2. सहायक, 2nd व 3rd इंजीनियर ऑफ़िसर- इन पदों के अंतर्गत इंजन रूम और जहाज़ के अन्य क्षेत्रों के भीतर सभी बिजली और यांत्रिक उपकरणों के रखरखाव और मरम्मत जुड़े कार्य आते हैं। इन पदों के लिए जहाज़ पर न्यूनतम 4 से 6 साल का व्यापक अनुभव होना आवश्यक है।
  3. कप्तान/मास्टर – कप्तान जहाज़ के पूरे संचालन की देखरेख करने के साथ-साथ बोर्ड पर अन्य अधिकारियों और चालक दल के काम का निरीक्षण भी करता है। इस पद के लिए सभी औपचारिक समुद्री योग्यता जैसे कैप्टन लाइसेंस के साथ जहाज़ पर अधीनस्थ पदों पर न्यूनतम 5 से 8 साल का व्यापक अनुभव शामिल है।
  4. पायलट ऑफ शिप- जहाज़ की गति, दिशा और रास्तों को तय करने का काम पायलट के अंतर्गत आता है। इस पद के लिए बोर्ड के जहाजों पर अधीनस्थ पदों पर न्यूनतम 4 से 6 वर्ष का व्यापक अनुभव होना अतिआवश्यक होता है, तथा अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना बेहद जरूरी है।
  5. उप कप्तान- एक उप कप्तान का कार्य हमेशा जहाज़ के कप्तान के सहायक के रूप में होता है। इस पद के लिए सभी औपचारिक समुद्री योग्यता जैसे कैप्टन लाइसेंस के साथ जहाज़ पर अधीनस्थ पदों पर न्यूनतम 3 से 5 साल का व्यापक अनुभव शामिल होता है एवं इस पद के लिए अंग्रेज़ी भाषा में अव्वल होना बेहद ज़रूरी होता है।
  6. चीफ़ स्टीवर्ड- चीफ़ स्टीवर्ड एक जहाज के खानपान विभाग के भीतर पूरे संचालन की देखरेख करता है। वह भोजन तैयार करने और परोसने, खानपान क्षेत्र की सफाई करने, और खान पान की सूची जारी करने और सूची बनाने जैसे कैटरिंग के दैनिक कार्य कैटरिंग कर्मचारियों सौंपता है। इस पद के लिए खान पान में योग्यता के साथ-साथ एक होटल / जहाज़ में समान पद पर 5 साल का अनुभव होना आवश्यक है।

मर्चेंट नेवी में जाने से पूर्व महत्वपूर्ण दिशा निर्देश

  • मर्चेंट नेवी में जाने से पूर्व यह सुनिश्चित करें कि जिस इंस्टीट्यूट से आप कोर्स कर रहें है, वह भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है या नहीं।
  • www.dgshipping.gov.in पर जाए यदि इंस्टीट्यूट का नाम इस लिस्ट में है तो ही आप वहाँ से कोर्स करें।
  • किसी भी फ़र्ज़ी कम्पनी, नक़ली इंस्टीट्यूट और फ़र्ज़ी एजेंट के झाँसे में न आए।
  • कम्पनियों द्वारा स्पोंसरशिप लेना न भूलें, यह परीक्षा सभी परीक्षाओं से अधिक महत्वपूर्ण है।
  • मर्चेंट नेवी को सीधा कोर्स जोइन न करें, सर्वप्रथम प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रयास करें।
  • अभ्यर्थी को उसकी योग्यता व पद के अनुसार ही वेतन प्राप्त होता है।

मर्चेंट नेवी से जुड़ने के लिए सम्पूर्ण विषय

  • Near Coastal Voyage (NCV)10th
  • Diploma in Nautical Science (DNS) After 10th
  • Commercial Diving After 10th
  • G.P. Rating After 10th
  • B.Sc. Nautical Science
  • B.E. Marine Engineering
  • B.E. Naval Architecture and Offshore Engineering
  • B.E. Petroleum Engineering
  • B.E. Mechanical Engineering
  • B.E. Harbour & Ocean Engineering
  • B.E. Civil Engineering
  • B.E. Electrical & Electronics Engineering
  • B.Sc. Marine Catering
  • Electro Technical Officer Course

Leave a Comment