PMKVY thumbnail

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना(PMKVY)


प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) भारत सरकार की एक कौशल विकास (Skill development) पहल है जिसका उद्देश्य देश में कौशल विकास को बढ़ावा देना और बड़ी संख्या में भारतीय युवाओं को उद्योग-संबंधित कौशल प्रशिक्षण देना है। इस योजना के तहत कुशलता को मान्यता दी जाती है ताकि युवाओं को बेहतर आजीविका हासिल करने में मदद मिल सके। वे लोग जो कम पढ़े लिखे, अनपढ़, या ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट है और कौशलता (Skill) की कमी के रहते एक अच्छी नौकरी पाने में असमर्थ है इस योजना के तहत अपने पसंदीदा क्षेत्र में प्रशिक्षण (Training) लेकर, रोज़गार पा सकते हैं। योजना से जुड़े प्रशिक्षण शुल्कों का भुगतान पूरी तरह से सरकार द्वारा किया जाता है।

PMKVY thumbnail
शुरुआत 20 मार्च 2015
उद्देश्य
  • कौशल विकास को प्रोत्साहित करना।
  • युवाओं को उद्योग-संबंधित कौशल विकास प्रशिक्षण देना।
  • देश की वास्तविक कार्यबल आवश्यकताओं के अनुसार युवाओं को प्रशिक्षित करना।
  • युवाओं को नौकरी पाने योग्य बनाना।
  • मौजूदा कार्यबल की उत्पादकता को बढ़ाना।
  • चार साल (2016- 2020) की अवधि में 1 करोड़ युवाओं को लाभ पहुँचाना।
प्रबंध मंत्रालय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (MSDE)
संचालनकर्ता राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC)
PMKVY फीस नि: शुल्क
प्रशिक्षण कोर्स 46 (Agriculture, Apparel, Beauty & Wellness, Electronics, Retail etc.)
प्रशिक्षण अवधि150 से 300 घंटे के बीच, कोर्स के अनुसार
कहाँ होगा प्रशिक्षण उम्मीदवार के चुने हुए कोर्स और स्थान के अनुसार ट्रेनिंग सेण्टर (TCs) पर।
कौन दिलाएगा नौकरीTraining Partners द्वारा प्लेसमेंट सहायता प्रदान की जाएगी, TP हर छह महीने में कौशल और रोज़गार मेले का आयोजन करेगा।
उम्मीदवार को वित्तीय सहायतासफल प्रमाणित उम्मीदवारों को 500/- रुपये दिए जाते हैं।
बोर्डिंग और खान-पान भुगतान और पोस्ट प्लेसमेंट सपोर्ट के लिए भी वित्तीय सहायता दी जाती है। (नियम व शर्ते लागू)
प्रशिक्षण सर्टिफ़िकेट 70% उपस्थिति वाले छात्र मूल्यांकन के लिए योग्य होंगे। उत्तीर्ण छात्रों को प्रमाण पत्र दिए जाएंगे।
अन्य लाभप्रमाणित उम्मीदवार को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के लिए मैप किया जायगा। स्वयं का व्यापार शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के माध्यम से लोन भी उपलब्ध करवाया जाता है।
योजना की उपलब्धियाँफरवरी 2018 तक 3.16 लाख उम्मीदवारों को रोजगार मिला। (53% placements)
सरकारी वेबसाइटwww.pmkvyofficial.org
हेल्पलाइन नम्बर 1. Student Helpline: 8800055555
2. SMART Helpline: 18001239626
3. NSDC TP Helpline: 1800-123-9626

PMKVY क्या है?

वर्तमान समय में भारत के कार्यबल के केवल एक बहुत छोटे वर्ग के पास कोई औपचारिक कौशल प्रशिक्षण है। जिसके कारण देश की अर्थव्यवस्था के कई क्षेत्रों में कुशल लोगों की कमी है। जिससे भारत में कार्यबल की खराब गुणवत्ता के साथ ही बहुत कम उत्पादक क्षमता है। साथ ही देश के युवाओं का एक बड़ा वर्ग नौकरी की तलाश भी कर रहा है। इस संदर्भ में, कौशल विकास देश के लिए एक प्रमुख प्राथमिकता क्षेत्र बन गया है। यह सिर्फ आर्थिक विकास के लिए ही नहीं, लेकिन अच्छी और बेहतर वेतन वाली नौकरियां और स्वरोजगार के अवसर के लिए युवा आकांक्षाओं को भी पूरा करने में मदद करेगा। इसी उद्देश्य के साथ प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) के जरिये सरकार चाहती है कि भारत दुनिया की कौशल राजधानी बने। इस योजना का उद्देश्य बड़ी संख्या में भारतीय युवाओं को निशुल्क कौशल प्रशिक्षण के द्वारा समर्थ बनाना है ताकि वे रोज़गार प्राप्त कर सकें और अपनी आजीविका को एक अच्छे स्वरूप में चला सके।

इस योजना के तहत युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने हेतु सरकार; पब्लिक ट्रेनिंग पार्टनर्स के सहयोग द्वारा ट्रेनिंग सेंटर संचालित करती है। ट्रेनिंग सेंटर्स में कौशल प्रशिक्षण को दो भागों में बाँटा गया है, उम्मीदवारों की थ्योरेटिकल स्टडी क्लास रूम में होती है तथा उम्मीदवारों के लिए प्रैक्टिकल का ज्ञान लेब में करवाया जाता है। थेयोरि और प्रैक्टिकल का अंकभार उम्मीदवार के जॉब रोल या कार्य भूमिका पर निर्भर होता है। यह ट्रेनिंग नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (NSQF) के तहत दी जाती है। यह एक इंडस्ट्री स्टेंडर्ड है जो नेशनल स्किल डेवलपमेंट एजेंसी (NSDA) तय करती है। ट्रेनिंग ख़त्म होने के बाद सभी उम्मीदवारों को सर्टिफ़िकेट पाने हेतु मूल्यांकन (assessment) में बैठना आवश्यक है। मूल्यांकन में बैठने के लिए उम्मीदवार की 70% उपस्थिति होना आवश्यक है। मूल्यांकन ट्रेनिंग सेंटर द्वारा नहीं होता है बल्कि सेक्टर स्किल्स काउंसिल से मान्यता प्राप्त Assessment एजेंसी से होता है। जो उम्मीदवार मूल्यांकन पास करते हैं उन्हें ₹500 पुरस्कार राशि के साथ सर्टिफ़िकेट दे दिया जाता है। इस स्कीम में ट्रेनिंग के समय कौशल प्रशिक्षण के साथ-साथ बातचीत के तरीक़े (Communication Skills), व्यापार करने की कला (Business Skills), Finance, डिजिटल कोर्स इत्यादि का ज्ञान भी दिया जाता है।


लक्षित लाभार्थी – Beneficiaries

PMKVY के उद्देश्यों के अनुरूप, यह योजना भारत के किसी भी उम्मीदवार के लिए लागू है जो:

  • एक बेरोजगार है या जिसने स्कूल / कॉलेज की पढाई बीच में छोड़ दी,
  • 15 से 45 के बीच की आयु के हैं,
  • आधार कार्ड और बैंक खाता धारक है
  • पैन या मतदाता पहचान पत्र जैसी एक वैकल्पिक ID है (केवल उत्तर पूर्व क्षेत्र के राज्यों और जम्मू-कश्मीर के लिए लागू – अतिरिक्त ID समय-समय पर जोड़ी जा सकती है)
  • SSC द्वारा परिभाषित संबंधित नौकरी भूमिकाओं के लिए कोई अन्य मानदंड

कॉलेज के छात्रों को PMKVY के तहत अनुमति नहीं दी जायगी क्योंकि यह योजना स्कूल / कॉलेज छोड़ने वाले युवाओं पर केंद्रित है। इसके अतिरिक्त, कॉर्पोरेट या कारखाने के परिसर के मामले में, उम्मीदवार स्वयं के कर्मचारी या दिहाड़ी मजदूर नहीं बन सकते।


योजना के अनुभाग – Sections of the Scheme

इस योजना के तहत निम्नलिखित तीन भागों में बांटा गया है।

1. अल्पावधि प्रशिक्षण – Short Term Training (STT)

इस घटक के अंतर्गत ऐसे अभियर्थियों को लाभ मिलेगा जिन्होंने अपनी स्कूल/कॉलेज की शिक्षा पूरी नहीं की (School/College Dropouts) है अथवा जो बेरोजगार है। National Skills Qualifications Framework (NSQF) के अनुसार ट्रेनिंग देने के अलावा ट्रेनिंग सेंटर्स द्वारा छोटा-मोटा कौशल, उघमिता, वित्तीय और डिजिटल साक्षरता में भी ट्रेनिंग दी जायगी। ट्रेनिंग की अवधि 150 और 300 घंटे के बीच, नौकरी की भूमिका के अनुसार बदलती रहती है।

ट्रेनिंग और मूल्यांकन (assessment) पूरा होने के बाद ट्रेनिंग पार्टनर्स द्वारा रोजगार प्राप्त करने में मदद प्रदान की जाती है। PMKVY अंतर्गत संपूर्ण प्रशिक्षण और मूल्यांकन शुल्क का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है।

2. पूर्वानुभव को मान्यता – Recognition of Prior Learning (RPL)

जिन्होंने स्वयं से या उद्योग सम्भंदित काम करते हुए कौशल प्राप्त किया हो उनका मूल्यांकन किया जायगा और उन्हें PMKVY के Recognition of Prior Learning (RPL) के तहत प्रमाणित किया जाएगा। यानि की पूर्वानुभव को मान्यता दी जायगी।

RPL का लक्ष्य देश के असंगठित सक्षम कार्यबल को NSQF के तहत संरेखित करना है। Project Implementing Agencies (PIAs), जैसे कि सेक्टर स्किल काउंसिल (SSCs) या किसी अन्य MSDE / NSDC द्वारा नामित एजेंसियों को RPL परियोजनाओं को (RPL Camps, RPL at Employer’s Premises and RPL centres) में से किसी भी प्रोजेक्ट को लागू करने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा।

3. विशेष परियोजनाएं – Special Projects

विशेष परियोजना (स्पेशल प्रोजेक्ट) PMKVY का एक घटक है, जिसके तहत NSQC द्वारा मंजूर कार्य विषयों में उम्मीदवारों को नए सिरे से कुशल बनाया/ प्रशिक्षण दिया जाता है। परियोजना आधारित एवं अपेक्षाकृत अधिक लचीला होने के कारण यह घटक PMKVY के अल्पावधि प्रशिक्षण (STT) घटक से थोड़ा भिन्न है।

इसमें कई ऐसी विशेषताएं हैं जो एक परियोजना को विशेष परियोजना बनाती हैं। ये प्रमुख विशेषताएं इस प्रकार हैं:-

  • विशिष्ट आबादी जैसे हाशिए (marginalized populations) पर जीवन बसर करने वालों की आबादी या कमजोर आबादी को लक्षित करता है।
  • प्लेसमेंट यानि कॉरपोरेटों द्वारा 80 प्रतिशत कैप्टिव प्लेसमेंट या 90 प्रतिशत सवैतनिक रोजगार प्रदान करता है।
  • जॉब रोल यानि पीएमकेवीवाई सूची के बाहर के कार्य विषय
  • संस्थागत सेटिंग्स उदाहरण के लिए जेल परिसर, सरकारी संस्थानों के परिसर जैसे राज्यपाल निवास, राष्ट्रपति की रियासत आदि।

योजना की विशेषताएं – Features

इस योजना के अंतर्गत टेक्नोलॉजी और समुदाय संयोजन का प्रयोग किया जाता है, जिससे इस अग्रणी योजना का मज़बूती से कार्यान्वयन (implementation) सुनिश्चित होता है। PMKVY; मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना और प्रधानमंत्री बीमा योजना जैसी अन्य विभिन्न सरकारी पहलों तथा अग्रणी योजनाओं के साथ मिलकर काम करती है।

रोज़गार (प्लेसमेंट)3.16 लाख उम्मीदवारों को PMKVY (2016-20) के तहत लॉन्च के दो साल से भी कम समय में रोजगार मिला। प्रशिक्षण केंद्रों को अभियर्थियों को रोजगार दिलवाने के लिए प्रोत्साहन दिया जाता है।
आधार आधारित बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली (AEBAS)AEBAS की विशेषता है की यह वास्तविक समय में उपस्थिति दर्ज करता है जो प्रत्येक केंद्र पर लगाए गए बायोमेट्रिक मशीन पर हर बार एक छात्र/ प्रशिक्षक द्वारा पंच करने पर यूआईडी डाटाबेस से पंच करने वाले व्यक्ति के आंकड़ों का मिलान करता है। (उत्तर पूर्व और जम्मू और कश्मीर क्षेत्र में लागू नहीं है)
PMKVY योजना निगरानीआधारित निगरानी करने के क्रम में, एक मॉनिटरिंग एप्लीकेशन बनाया गया है। इस एप्लीकेशन का प्रयोग क्षेत्र निरीक्षकों द्वारा जीयो- टैग प्रशिक्षण केंद्रों की निरीक्षण रिपोर्ट्स जमा करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, समय के साथ लिए गए चित्र साक्ष्य वास्तविक समय यानि रीयल टाइम पर एकत्र किए जाते हैं, इस प्रकार गति और पैमाने में वृद्धि होती है और बेहद निष्पक्ष निगरानी में रिपोर्ट बनाई जाती है।
कौशल तथा रोज़गार मेलेटीसी को मेंटरशिप-कम-प्लेसमेंट सेल रखने की आवश्यकता होगी। विशेष क्षेत्रों, महिलाओं और PwD से उम्मीदवारों को प्लेसमेंट के बाद वित्तीय समर्थन प्रदान करने का भी प्रावधान है। टीपी को SSCs के समर्थन से प्लेसमेंट / रोज़गार मेले आयोजन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।
प्रधानमंत्री कौशल केंद्रस्किल इंडिया मिशन को सुदृढ़ करते हुए कौशल प्रशिक्षण एवं उद्यमशीलता मंत्रालय ने भारत के प्रत्येक जिले में अत्याधुनिक और प्रेरणादायक आदर्श प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना का कार्य शुरू किया है। इन आदर्श प्रशिक्षण केन्द्रों को प्रधान मंत्री कौशल केन्द्र (PMKK) के रूप में संदर्भित किया जाता है।
केंद्रीय प्रायोजित राज्य नियंत्रितPMKVY के CSSM घटक को वर्ष 206 में राज्य नियुक्ति संबंधी दिशानिर्देशों के जारी होने के साथ शुरू किया गया। PMKVY 2.0 धनराशि का 25% (2016-2020) अर्थात्‌ 3000 करोड़ तथा 20 लाख उम्मीदवारों का भौतिक लक्ष्य राज्यों तथा संघ राज्य क्षेत्रों को आवंटित किया गया है जहां राज्य कौशल विकास मिशन से अपेक्षित है कि वे युवाओं के लिए उच्च स्तरीय कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम की व्यवस्था करें तथा सुनिश्चित करें कि प्रशिक्षण के बाद उन्हें सफलतापूर्वक नियोजित किया जाता है।

योजना के लाभ – Benefits of PMKVY

  1. इस योजना के अंतर्गत कंस्ट्रक्शन, इलेक्ट्रॉनिक्स, हार्डवेयर, फ़ूड प्रोसेसिंग, फर्नीचर, फिटिंग, हैंडीक्राफ्ट, जेम्स एवं ज्वेलरी और लेदर टेक्नोलॉजी जैसे करीब 46 क्षेत्र दिये गए हैं।
  2. उम्मीदवारों को निःशुल्क ट्रेनिंग, ड्रेस और स्टडी मटेरियल उपलब्ध कराया जाता हैं।
  3. सफल उम्मीदवारों को कौशल प्रमाणपत्र दिया जाता है।
  4. योजना के माध्यम से महिलाओं को समावेशी हेतु कौशलयुक्त बनाया जा रहा है।
  5. मूल्यांकन एवं प्रमाण पत्र के लिए उम्मीदवारों से किसी भी प्रकार का कोई भी शुल्क/फ़ीस नही ली जाती है।
  6. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के माध्यम से ऋण लेने का अवसर मिलता है। ताकि उम्मीदवार अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू कर सके।
  7. कौशल प्रमाणपत्र का प्रयोग सम्बंधित कौशल क्षेत्र में अगले स्तर की नौकरी में किया जा सकता है।
  8. प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) के तहत कुशल उम्मीदवारों को दुर्घटना मृत्यु / स्थायी विकलांगता के लिए 2 लाख की बिमा राशि तीन वर्ष की अवधि के लिए दी जाती है। बिमा के प्रीमियम का भुगतान NSDC द्वारा सीधे NIA को किया जायगा। यह सुविधा प्रमाणित उम्मीदवारों को निःशुल्क दी जायगी।
  9. डिजिलॉकर की सुविधा भी दी जाती है। डिजिटल लॉकर; डिजिटल इंडिया स्कीम का महत्वपूर्ण हिस्सा है जिससे उम्मीदवार अपना जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे अहम दस्तावेजों को ऑनलाइन रख सकता हैं। तथा PMKVY के द्वारा जो भी दस्तावेज प्राप्त होते है वे सभी अपने आप इस लोकर में स्टोर हो जाते है।

रोज़गार मेला/कौशल मेला – Placement

रोज़गार मेला/कौशल मेला एक प्रकार की कैम्प आधारित प्रक्रिया होती है। जो कि प्रशिक्षण दिए जाने के बाद रोज़गार के अवसर के लिए अहम पहल है। यह एक प्लेसमेंट ड्राइव्स (नौकरी देने का अभियान) है। जिसके अंतर्गत उम्मीदवार व नियोक्ता एक ही मंच पर मिलते है, NSCD; मिंत्रा, पिज़्ज़ा हट, PVR सिनेमाज, बाटा इंडिया जैसे कई प्रमुख क्षेत्रों के नियोक्ता इस रोज़गार मेले का भाग बनते है।

रोज़गार मेला उम्मीदवारों के लिए ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर द्वारा प्रत्येक 6 महीने में आयोजित किया जाता है। और प्रत्येक रोज़गार मेले में कम से कम 4 कम्पनियों की मौजूदगी होना अनिवार्य होता है। एक ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर के बैच से कम से कम 50% उम्मीदवारों का चयन होना महत्वपूर्ण होता है, जिससे उस ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर की लर्निंग क्वालिटी का आकलन किया जा सकता है।

रोज़गार मेले के अंतर्गत प्रशिक्षण भागीदारों (Training Partners) को क्या करना चाहिए और क्या नहीं

  • ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर रोज़गार मेले के आयोजन हेतु राष्ट्रीय कैरियर सेवा और मॉडल कैरियर केंद्रों को सूचित करें।
  • रोज़गार मेले में भाग लेने वाली कम्पनियों के उम्मीदवारों को सूचित करें।
  • रोज़गार मेले से पूर्व उम्मीदवारों का लेखन प्रशिक्षण फिर से शुरू करें।
  • ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर का यह दायित्व है कि वे उम्मीदवारों को मॉक इंटरव्यू के लिए तैयार करें।
  • उम्मीदवार साक्षात्कार के दौरान अपने CV(Curriculum Vitae) की पर्याप्त हार्ड कॉपी ले जाएं।
  • ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर SDMS पर नौकरी लगे उम्मीदवारों की संख्या की रिपोर्ट करें और इसके लिए प्रमाण भी रखें।
  • ट्रेनिंग सेंटर/ट्रेनिंग पार्टनर को यह ध्यान रखना चाहिए कि साक्षात्कार के लिए उम्मीदवार देरी न करें।
  • रोज़गार मेले के अंतर्गत साइट पर कम्पनियों के लिए पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए।
  • अनौपचारिक ड्रेसिंग, अभ्यर्थियों की अनपेक्षित उपस्थिति नहीं होनी चाहिए।
  • SDMS पर प्लेसमेंट के विवरण की रिपोर्टिंग में देरी नहीं होनी चाहिए।

PMKVY पाठ्यक्रम – Courses

योजना के अंतर्गत अभियार्थी निम्न में से किसी एक क्षेत्र में ट्रेनिंग ले सकते है। अभियर्थीओं को यह भी निश्चित करना होगा की उनके द्वारा चयन किये गए ट्रेनिंग सेण्टर में यह कोर्स कराया जाता है या नहीं। उद्योग की मांग के आधार पर कुछ क्षेत्रों में दूसरों की तुलना में बेहतर रोज़गार दर होती है। कुछ क्षेत्रों की रोज़गार दर नीचे अंकित है।

PMKVY पाठ्यक्रम सूची के लिए यहां क्लिक करें
  • Agriculture
  • Apparel
  • Automotive
  • Aviation & AeroSpace
  • Banking, Financial services and Insurance (BFSI)
  • Beauty & Wellness
  • Business & Commerce
  • Capital Goods
  • Chemical
  • Construction
  • Counselling Skill
  • Domestic Worker
  • Electrical
  • Electronics
  • Fire And Safety Engineering
  • Food Processing & Preservation
  • Fragrance, Flavour & Perfume
  • Furniture & Furnishings
  • Gems & Jewellery
  • Glassware
  • Green Jobs
  • Green Skills
  • Handloom & Handicrafts
  • Healthcare
  • Indian Sweets, Snacks And Food
  • Infrastructure
  • Instrumentation
  • Iron & Steel
  • IT-ITES
  • Jute Sector
  • Leather
  • Life Science
  • lnstrumentation,Automation,Surveillance and Communication
  • Logistics & Supply Change Management
  • management and Entrepeneur ship
  • Marine Engineering
  • Media & Entertainment
  • Mining
  • Paint
  • Plastic Processing
  • Plastics Processing
  • Plumbing
  • Power & Energy
  • Printing
  • Production And Manufacturing
  • Renewable Energy
  • Retail
  • Rubber
  • Security
  • Sericulture
  • Ship Construction
  • Soft Skills
  • Sports
  • Telecom
  • Textiles
  • Tourism & Hospitality
  • Toy Making

सबसे अधिक नौकरियां दिलाने वाले कोर्स – Sector wise Placement

Sector wise placement percentage

PMKVY में रजिस्ट्रेशन – Skill India Registration

PMKVY Registration website

PMKVY में नामांकित होने के लिए इन चरणों का पालन करें।

  • उम्मीदवार सर्वप्रथम कौशल पंजी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • पोर्टल पर लेफ़्ट साइड दिखाई दे रहे Candidate Registration पर क्लिक करें।
  • यहां उम्मीदवार से पोर्टल पर दिखाई दे रहे 6 पेजों के द्वारा विवरण मांगा जाएगा।
  • पहले पेज पर Next बटन पर क्लिक कर आगे बढ़ें।
  • पोर्टल के दूसरे पेज पर उम्मीदवार को गाँव, ज़िला, शहर, राज्य, जन्म दिनांक, Email ID इत्यादि की जानकारी देनी होगी। Save & Proceed पर क्लिक कर आगे बढ़ें।
  • जैसे ही आप Save & Proceed पर क्लिक करेंगे यहां आपको आपकी ID दी जाएगी जिसे नोट करना उम्मीदवार की ज़िम्मेदारी होगी।
  • तीसरे पेज पर आपसे Address का सम्पूर्ण विवरण मांगा जाएगा। Save & Proceed पर क्लिक कर आगे बढ़ें।
  • पोर्टल के चौथे पेज पर उम्मीदवार से उसकी वार्षिक आय, शैक्षणिक योग्यता, शादी स्टेट्स इत्यादि निजी जानकारी भरनी होगी।
  • पोर्टल के पांचवें पेज पर उम्मीदवार से वह क्षेत्र पूछा जाएगा जिस क्षेत्र में वह नौकरी करना चाहता है। अंतिम पेज के लिए SUBMIT का बटन क्लिक करें।
  • OTP मांगा जाएगा उसे भरें और आपका PMKVY में रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।
  • अंत में अपनी Application ID कहीं लिख ले और एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट कर ले।

रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद उम्मीदवार को अपने स्थान के पास मौजूद ट्रेनिंग सेंटर में जाना होगा जिसमे उसके द्वारा चयन किये गए क्षेत्र में प्रशिक्षण दिया जाता हैं। ट्रेनिंग सेंटर खोजने की परिक्रिया नीचे दी गयी हैं।


PMKVY ट्रेनिंग सेंटर कैसे ढूंढे? – PMKVY Training Center

  • PMKVY के अंतर्गत ट्रेनिंग सेंटर चुनने से पूर्व उम्मीदवार को सर्वप्रथम यह सुनिश्चित करना चाहिए की वह किस क्षेत्र में प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहता है। और उस क्षेत्र से सम्बंधित ट्रेनिंग सेंटर उसके ज़िले में है या नहीं।
  • ट्रेनिंग सेंटर चुनने के लिए सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर जाए।
PMKVY ट्रेनिंग सेंटर खोजने का पोर्टल
PMKVY ट्रेनिंग सेंटर खोजने का पोर्टल
  • यहां पोर्टल पर आपको 3 विकल्प दिखाई देंगे
    • Search By Sector
    • Search By job roles
    • Search By location
  • अपने विकल्प के अनुसार जानकारी भरें और Submit के बटन पर क्लिक करें।
  • ट्रेनिंग सेंटर से जुड़ी विस्तृत जानकारी आपको उपलब्ध हो जाएगी।

PMKVY सर्टिफ़िकेट

प्रमाणित उम्मीदवार को उनके कौशल प्रमाण पत्र पर एक ग्रेड (ए / बी / सी) प्राप्त होगी यह ग्रेड उनके द्वारा प्राप्त अंको पर निर्भर करेगी।

PMKVY Skill certificate

PMKVY मौद्रिक पुरस्कार – Monetary Rewards

  • सफल प्रमाणित उम्मीदवारों को प्रशिक्षण सर्टिफ़िकेट के साथ 500/- रुपये दिए जाते हैं।
  • मौद्रिक पुरस्कार को सीधे प्रशिक्षु(ट्रेनी)के बैंक खाते में डाल दिया जाएगा।
  • प्रत्येक उम्मीदवार की विशिष्ट पहचान के लिए आधार नंबर का उपयोग किया जाएगा।
  • मौद्रिक पुरस्कार विभिन्न-विभिन्न कार्यक्षेत्र के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं।

PMKVY के अंतर्गत Trainee को विशिष्ट भुगतान/सहायता

1. Boarding and Lodging Payouts

Category of District (जिले की श्रेणी)Amount
X Category Districts per day per trainee₹300
Y Category Districts per day per trainee₹250
Z Category Districts per day per trainee₹200
  • यहां श्रेणी X,Y,Z भारत के विशिष्ट ज़िलों की अनुबंध सूची है।
  • X और Y श्रेणी के अंतर्गत आने वाले जिले PMKVY Guidelines PDF में Annexure 2 (पेज 52) में सूचीबद्ध हैं।
  • J & K और NE (सभी 8 राज्यों) के उम्मीदवार प्रशिक्षण के लिए इस क्षेत्र से बाहर चले गए हैं, उन्हें प्रशिक्षण के लिए भुगतान किया जाता है।
  • LWE क्षेत्रों के उम्मीदवार प्रशिक्षण के लिए अपने जिले से बाहर चले गए है, उन्हें भी PMKVY के अंतर्गत भुगतान किया जाता है।
  • वे उम्मीदवार जो विशेष क्षेत्रों में रहने वाले है तथा प्रशिक्षण हेतु अपने क्षेत्र से बाहर आ गए हैं उन्हें भी भत्ता मिलता है।
  • PWD उम्मीदवारों के लिए भी इस योजना हेतु भुगतान किया जाता है। (Payout to be made to the PWD candidates undertaking residential courses irrespective of the region)
  • भुगतान की गणना प्रशिक्षण अवधि के दिनों और मूल्यांकन के दो दिनों की संख्या पर आधारित होगी। प्रशिक्षण अवधि की गणना एक दिन में प्रशिक्षण के घंटो की संख्या के आधार पर की जाएगी। (कम से कम 4 घंटे एक दिन में)

2. Post Placement Support

नव कुशल व्यक्तियों को अपनी नई नौकरियों में पैर ज़माने में सक्षम बनाने के लिए, प्लेसमेंट के बाद उम्मीदवारों को प्रति माह INR 1450 की दर से सहायता प्रदान की जाएगी। अवधि तालिका में उल्लिखित है।

Post Placement Support ₹1450 प्रतिमाह  पुरुष महिला
Placement within the District of Domicile 1 महीना 2 महीना
Placement outside the District of Domicile 2 महीना 3 महीना

पोस्ट प्लेसमेंट सपोर्ट विशेष समूहों के लिए लागू है जिसमे महिलाये, पीडब्ल्यूडी और विशेष क्षेत्रों में सभी उम्मीदवार आते है। समर्थन केवल दैनिक मजदूरी वाले रोजगार के लिए लागू है।

3. Conveyance Support

गैर-आवासीय कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों के सफल समापन और प्रमाणन पर, सभी महिलाएं उम्मीदवारों और PWD को यात्रा में आने-जाने में होने वाले खर्च के लिए एक भत्ता प्रदान किया जाता है।

कन्वेयन्स सपोर्ट प्रतिमाह राशि
Training Centre within the District of Domicile1000
Training Centre outside the District of Domicile1500

PMKVY से संबंधित आंकड़े – Statistics

दिए गए आँकड़ों की गणना 15 जुलाई 2018 तक की गई है।

15 जुलाई 2018 तक कितने कौशल मेलों का आयोजन किया गया1400 से अधिक
15 जुलाई 2018 तक कौशल मेलों में कितने लाभार्थियों का पंजीकरण हुआ 2.5 लाख से अधिक
15 जुलाई 2018 तक कितने नियोक्ताओं ने कौशल मेलों में भाग लिया 7000 से अधिक
15 जुलाई 2018 तक कितने रोज़गार मेलों का आयोजन किया गया 850 से अधिक
15 जुलाई 2018 तक रोज़गार मेलों में कितने कर्मी चुने गए 60000 से अधिक
RPL के अंतर्गत अभी तक कितने ट्रेनिंग सेंटर खोले गए 32671*
Short Term Training के अंतर्गत कितने ट्रेनिंग सेंटर खोले गए 628*
Special Projects के लिए कितने ट्रेनिंग सेंटर खोले गए 1301*
RPL के अंतर्गत अभी तक कितने उम्मीदवार प्रशिक्षित हुए 2692637
Short Term Training के अंतर्गत अभी तक कितने उम्मीदवार प्रशिक्षित हुए 3064806
Special Projects के अंतर्गत अभी तक कितने उम्मीदवार प्रशिक्षित हुए 111229

नोट: लेख में दी गए जानकारियां केवल मार्गदर्शन के लिए है। ये जानकारियां समय-समय पर बदलती रहती है। कृप्या सरकारी वेबसाइट से इनका पुष्टिकरण कर ले।

Leave a Comment