Indian Railways Ticket Collector

रेलवे में Ticket Collector (TC) कैसे बनें?

Ticket Collector (TC या TTE) रेलगाड़ी में यात्रियों के पास टिकट चेक करने का कार्य करता है, साथ ही वह यह भी सुनिश्चित करता है कि कोई बिना टिकट के यात्रा तो नहीं कर रहा है। यदि कोई व्यक्ति 12वीं पास है और टिकट कलेक्टर के लिए सभी पात्रताएं रखता है तो रेलवे की इस बहुचाही नौकरी के लिए वह आवेदन कर सकता है।

भारतीय रेल नेटवर्क विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है और इसी कारण यह रेल नेटवर्क विश्व का आठवाँ सबसे ज़्यादा रोज़गार देने वाला कामदाता कहलाता है। इतनी बड़ी कार्य प्रणाली का सुव्यवस्थित संचालन करने के लिए रेलवे बोर्ड ने 4 समूह निर्धारित किए है जिसके अंतर्गत बहुत सारे अलग-अलग पद सम्मिलित किए गए है। इन्ही समूहों में से एक, C समूह के अंतर्गत टिकट कलेक्टर का पद भी निहित है। टिकट कलेक्टर (TC) को TTE (Travelling Ticket Examiner) भी कहा जाता है।

रेलवे के अन्य पद व उनकी चयन प्रक्रिया की जानकारी यहाँ से पढ़े

टिकट कलेक्टर के कार्य – Duties of Ticket Collector

टिकट कलेक्टर रेलगाड़ी में यात्रियों के पास टिकट चेक करने का कार्य करता है, साथ ही वह यह भी सुनिश्चित करता है कि कोई बिना टिकट के यात्रा तो नहीं कर रहा, यदि वह ऐसे किसी व्यक्ति को पकड़ता है तो उस व्यक्ति पर जुर्माना लगाने का कार्य भी टिकट कलेक्टर के द्वारा ही किया जाता है। ट्रेन में यदि किसी सीट के चलते यात्रियों में कोई वाद-विवाद उत्पन्न हो जाता है तो उसका निपटारा भी टिकट कलेक्टर के द्वारा ही होता है।

टिकट कलेक्टर यात्रियों द्वारा रखे गए सामान के टिकटों की जांच करने के साथ-साथ यह भी सुनिश्चित करता है कि कितने यात्री रेलवे पास के साथ यात्रा कर रहे हैं। यात्रियों के साथ बड़े भारी आकार के पैकेज, कुत्तों, पक्षियों आदि होने की स्थिति में शुल्क दर (टैरिफ) के नियमों पर भी ध्यान देना टिकट कलेक्टर के अंतर्गत आता है।

टिकट कलेक्टर मालगाड़ियों में रखे सामान को भी जाँचता है ताकि वह यह सुनिश्चित कर सके कि कोई अतिरिक्त सामान या कोई विवादास्पद वस्तु एक जगह से दूसरी जगह न पहुँचाई जा रही हो। टिकट कलेक्टर के सभी कार्य यहाँ से पढ़ सकते है।


टिकट कलेक्टर भर्ती के लिए चयन प्रक्रिया – Selection Process

Indian-Railways-Ticket-Collector-selection-procedure-inforgraphics
  1. टिकट कलेक्टर बनने के लिए सर्वप्रथम यह सुनिश्चित करना होगा कि आवेदक इस पद के लिए पात्र उम्मीदवार हैं या नहीं। सभी पात्रताएं नीचे अंकित है।
  2. यदि आवेदक इस पद के लिए पात्रता रखते हैं तो उनको RRB के 21 क्षेत्रों में से; किसी के द्वारा भी घोषित वेकन्सी (Job Notification) के लिए आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा में आवेदन करना होगा।
  3. रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा आवेदन मांगने हेतु indianrailways.gov.in व स्थानीय मुख्य रोज़गार समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित किया जाता है।
  4. टिकट कलेक्टर के लिए चयन प्रक्रिया; भारतीय रेलवे बोर्ड द्वारा रेलवे मंत्रालय के दिशा निर्देशों के अनुसार होती है। जिसमें SC, ST, OBC, EWS, PwD और पूर्व सैनिक आदि के लिए नौकरियों का आरक्षण शामिल होता है।
  5. आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से होती है।
  6. लिखित / ऑनलाइन परीक्षा के आयोजन की समय सारणी स्थानीय रोज़गार समाचार पत्रों एवं आपके ई-मेल पर प्राप्त हो जाती है।
  7. प्रतियोगिता परीक्षा में पास होने के पश्चात अभ्यर्थी की शारीरिक परीक्षा के साथ-साथ उसके दस्तावेज़ो का भी सत्यापन होता है।
  8. यदि अभ्यर्थी इन सभी परीक्षाओं में सफल हो जाता है तो रेलवे के द्वारा अभ्यर्थी को नियुक्ति पत्र पोस्ट या ईमेल कर दिया जाता है।

पदों की उपलब्धता के आधार पर आरक्षण – Reservation

  • आर्थिक स्थिति से कमजोर सामान्य वर्ग (EWS) के लिए 10% आरक्षण का प्रावधान है।
  • भर्ती परीक्षा हेतु आरक्षित वर्ग (SC/ST/OBC) के उम्मीदवारों को जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक है।
  • प्रत्येक भर्ती परीक्षा में आरक्षित वर्ग के लिए पदों की उपलब्धता के आधार पर कुछ पदों को आरक्षित रखा जाता है। 
  • यदि उम्मीदवार अपने वर्ग के अनुसार पदों की उपलब्धता के आधार पर आरक्षण जाँचना चाहे तो वह नीचे दिये गए आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर Vacancy table को देख सकता है।
  • रेल मंत्रालय भर्ती बोर्ड के द्वारा शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए Group C व Group D में पदों की उपलब्धता के आधार पर आरक्षण दिया गया है।
  • आरक्षण से सम्बन्धित महत्वपूर्ण दस्तावेज-

टिकट कलेक्टर बनने के लिए पात्रता – Eligibility

  • सर्वप्रथम आवेदक का आवेदन करने के लिए भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।
  • अथवा वह नेपाल/भूटान का मूल-निवासी हो या तिब्बती शरणार्थी, जो भारत में 1 जनवरी 1962 से पहले स्थायी रूप से रहने की मंशा से आया हो।
  • भारतीय मूल के वह व्यक्ति जो पाकिस्तान, बर्मा, श्रीलंका, केन्या, युगांडा, तनजानिया, मालवी, जाईरे, ईथोपिया व वियतनाम से आकर भारत में स्थायी रूप से रह रहे हों।
  • आवेदक की आयु सीमा 18 वर्ष से 30 वर्ष (आरक्षित वर्ग को छोड़कर) तय की गई है।
  • आवेदक का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं में 50% अंकों के साथ पास होना आवश्यक है।

1. आयु सीमा – Age Limit

  • सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा में छूट का कोई प्रावधान नहीं है।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट है।
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिए आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट है।
  • विकलांग पूर्व सैनिकों के लिए, रक्षा में प्रदान की गई सेवा की सीमा तक, साथ ही 3 साल, बशर्ते 6 महीने से अधिक सेवा में रहें हो।
  • दिव्यांग व्यक्तियों(PWD)के लिए(सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु सीमा में छूट 10 वर्ष/अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आयु सीमा में छूट 13 वर्ष/अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लिए अधिकतम आयु सीमा में छूट 15 वर्ष दी गई है।
  • वे उम्मीदवार जो रेलवे कर्मचारी के रूप में समूह(ग्रूप)C तथा पूर्ववर्ती समूह D में कार्यरत है, रेलवे में न्यूनतम 3वर्ष की सेवा के साथ आकस्मिक श्रमिक तथा एवजी का कार्य कर रहे हैं(सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष/अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 43 वर्ष तथा अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लिए अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष रखी गई है)।

2. चिकित्सकीय मापदंड – Medical criteria

पद से सम्बंधित कार्य को कर सकने की चिकित्सा योग्यता सुनिश्चित करने के लिए रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा इस परीक्षा का आयोजन दस्तावेज सत्यापन के बाद करवाया जाता है। रेलवे कर्मचारियों की चिकित्सा योग्यता के दृष्टि तीक्ष्णता (Eyesight) मानक एक अत्यंत महत्वपूर्ण मापदंड है।

चिकित्सा मानक दृष्टि तीक्ष्णता(Visual acuity)
A-2दूर दृष्टि: 6/9,6/9 बिना चश्मे के
नज़दीक दृष्टि: SN 0.6,0.6 बिना चश्मे के साथ
रंग द्रश्यता, बायनोकुलर द्रश्यता, रात्रि द्रश्यता, मैसोपिक द्रश्यता इत्यादि परीक्षण में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
B-3दूर दृष्टि: 6/9,6/9 चश्मे के साथ अथवा बिना चश्मे के(लैंसों की पावर 2डी से अधिक न हो)
नज़दीक दृष्टि: SN 0.6,0.6 चश्मे के साथ अथवा बिना चश्मे के साथ
रंग द्रश्यता, बायनोकुलर द्रश्यता, रात्रि द्रश्यता, मैसोपिक द्रश्यता इत्यादि परीक्षण में उत्तीर्ण होनाअनिवार्य है।
B-2दूर दृष्टि: 6/9,6/12 चश्मे के साथ अथवा बिना चश्मे के(लैंसों की पावर 4डी से अधिक न हो)
नज़दीक दृष्टि: जब पढ़ना तथा नज़दीकी कार्य करना आवश्यक हो तो SN 0.6,0.6 चश्मे के साथ
अथवा बिना चश्मे के साथ
बायनोकुलर द्रश्यता परीक्षण में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
C-2दूर दृष्टि: 6/12 चश्मे के साथ अथवा बिना चश्मे के शून्य
नज़दीक दृष्टि: जब पढ़ना तथा नज़दीकी कार्य करना आवश्यक हो तो SN ,0.6 चश्मे के साथ
अथवा बिना चश्मे के साथ

टिकट कलेक्टर के लिए परीक्षा पैटर्न – Exam Pattern

  • टिकट कलेक्टर की परीक्षा मुख्यतः 3 चरणों में सम्पन्न होती है।
    • लिखित परीक्षा
    • साक्षात्कार व दस्तावेज सत्यापन
    • मेडिकल परीक्षा
  • लिखित परीक्षा/ऑनलाइन में Objective type question ही पूछे जाते है।
  • लिखित परीक्षा/ऑनलाइन में निम्न विषयों के आधार पर 100 प्रश्न पूछे जाते है।
    • General Awareness (सामान्य जागरूकता)
    • Arithmetic (अंकगणित)
    • Technical Ability (तकनीकी योग्यता)
    • Reasoning (तर्कशक्ति)
  • लिखित परीक्षा में प्रत्येक गलत उत्तर पर 1/3 अंक काटा जाता है।
  • लिखित परीक्षा में समयावधि 90 मिनट की होती है।

वेतन व भत्ते – Pay scale

  • टिकट कलेक्टर का प्रारम्भिक वेतन ₹5200-₹20200/ + 1900 GP होता है।
  • मासिक वेतन के अतिरिक्त DA भी मिलता है।
  • टिकट कलेक्टर व उसके परिवार के लिए घर की सुविधा भी होती है।
  • कर्मचारी और उस पर निर्भर सभी सदस्यों का सम्पूर्ण चिकित्सा व्यय सरकारी उठाती है।
  • कर्मचारी और उस पर निर्भर सभी सदस्यों का रेलवे सफर मुफ़्त अथवा रियायत के अंतर्गत आता है।

टिकट कलेक्टर के पदोन्नति पद

Indian Railways SENIOR TICKET COLLECTOR dress code
Ticket Collector (TC/TTE) Dress code

यह एक पदोन्नति पद होता है जिसके कुछ वरिष्ठ पद इस प्रकार है।

  1. वरिष्ठ टिकट कलेक्टर – (SENIOR TICKET COLLECTOR/TRAVELLING TICKET EXAMINER (TTE))
  2. वरिष्ठ टिकट परीक्षक – (HEAD TICKET COLLECTOR/SENIOR TRAVELLING TICKET EXAMINER/CONDUCTOR)
  3. टिकट निरीक्षक/कंडक्टर – (TRAVELLING TICKET INSPECTOR (TTI)/ CONDUCTOR)
  4. मुख्य टिकट निरीक्षक – (CHIEF TICKET INSPECTOR (CTI))

Leave a Comment